तुषार गांधी ने केंद्रीय गृह मंत्री पर साधा निशाना; कहा, क्रांतिकारियों की भूमिका बताने के लिए शाह की जरूरत नहीं

अखंड समाचार, एजेंसियां — कोझिकोड

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के प्रपौत्र तुषार गांधी ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि शाह को देश के स्वतंत्रता आंदोलन में सशस्त्र क्रांतिकारियों के योगदान के बारे में बात करने की कोई जरूरत नहीं है, क्योंकि ‘बापू’ ने खुद उनकी भूमिका को स्वीकार किया था। अमित शाह ने हाल ही में कहा था कि स्वतंत्रता संग्राम के दौरान अहिंसक आंदोलन के केवल एक प्रकार के आख्यान को ही शिक्षा, इतिहास और दंतकथाओं के माध्यम से लोगों पर थोपा गया है, जबकि भारत की स्वतंत्रता सशस्त्र क्रांतिकारियों के योगदान सहित सामूहिक प्रयासों का परिणाम थी। तुषार गांधी ने केरल साहित्य महोत्सव (केएलएफ) के छठे संस्करण में अपने संबोधन में कहा कि हमें ये बातें कहने के लिए किसी अमित शाह की जरूरत नहीं है। अमित शाह को ये बातें इसलिए कहने की जरूरत है, क्योंकि उनके पास अपने बारे में या अपनी विचारधारा के बारे में कहने के लिए कुछ भी नहीं है। बापू ने स्वयं स्वीकार किया था कि केवल उनके प्रयत्नों से ही स्वतंत्रता प्राप्त नहीं हुई थी।

Vinkmag ad

Read Previous

न्यायपालिका पर कब्जे का प्रयास कर रही केंद्र सरकार, धनखड़ के बयान पर सिब्बल का आरोप

Read Next

कमजोर बूथों पर ध्यान दे भाजपा, राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में प्रधानमंत्री मोदी के निर्देश