चंद घंटों में ही हटाई ऐतिहासिक जामा मस्जिद में अकेली लड़कियों पर पाबंदी

अखंड समाचार, नई दिल्ली (ब्यूरो) : 

दिल्ली की ऐतिहासिक जामा मस्जिद में अकेली लड़कियों के प्रवेश पर प्रतिबंध के मामले में विवाद बढ़ते ही यह फैसला चंद घंटों के भीतर की वापस ले लिया गया। सूत्रों की मानें तो दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने जामा मस्जिद के शाही इमाम बुखारी से इस बारे में बात की और लड़कियों के प्रवेश को प्रतिबंधित करने वाले आदेश को रद्द करने का निर्देश दिया। बताया जा रहा है कि इमाम बुखारी ने उपराज्यपाल के आदेश पर सहमति जताई। इससे पहले दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने इस फैसले को महिलाओं के अधिकारों का उल्लंघन बताते हुए जामा मस्जिद को नोटिस भेजा था। बता दें कि दिल्ली की मशहूर जामा मस्जिद के प्रशासन ने मुख्य द्वारों पर नोटिस लगाकर मस्जिद में लड़कियों के अकेले या समूह में प्रवेश पर रोक लगा दी थी। मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी के कहा था कि मस्जिद परिसर में कुछ घटनाएं सामने आने के बाद यह फैसला लिया गया। उन्होंने कहा कि जामा मस्जिद इबादत की जगह है और इसके लिए लोगों का स्वागत है, लेकिन लड़कियां अकेले आ रही हैं और अपने दोस्तों का इंतजार कर रही हैं। यह जगह इस काम के लिए नहीं है। इस पर पाबंदी है।

Vinkmag ad

Read Previous

अहंकार के प्रभाव में आने से मनुष्य का विनाश है निश्चित : नवजीत भारद्वाज

Read Next

शराब घोटाले की चार्जशीट में सिसोदिया का नाम नहीं, आम आदमी पार्टी ने बताई सत्य की जीत